World Hindi Day Theme 2024- विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम क्या है

विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम

विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम– हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस एक विशेष थीम के साथ मनाया जाता है. विश्व हिंदी दिवस पर थीम निर्धारित करने का उद्देश्य उस वर्ष दुनिया में हिंदी के विकास में अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग करना ही होता है. विश्व हिंदी दिवस वर्ष 1975 में 10 जनवरी को आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मलेन की वर्षगांठ की याद में मनाया जाता है.

आज के वक्त में भारत समेत पोर्ट लुईस, स्पेन, लंदन, न्यूयॉर्क, जोहानसबर्ग जैसे देशों में विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया जा चुका है. प्रथम बार विश्व हिंदी दिवस वर्ष 2006 में मनाया गया था, जब तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ० मनमोहन सिंह ने प्रति वर्ष 10 जनवरी  को विश्व हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की थी.

विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम

हर साल की तरह वर्ष 2024 में भी विश्व हिंदी दिवस एक विशेष थीम की तहत मनाया जायेगा. इस वर्ष के लिए विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम “हिंदी – पारंपरिक ज्ञान और कृत्रिम बुद्धिमत्ता को जोड़ना” रखी गई है. इस दिन दुनिया भर में हिंदी भाषी लोगों के लिए कई प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जहां पर हिंदी के क्षेत्र में काम करने वाले बड़े-बड़े लेखक और विचारक शामिल होते हैं ताकि हिंदी को और भी ज्यादा उन्नत और अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जा सके। इसके अलावा हिंदी को पूरी दुनिया में प्रचार और प्रसार करने की योजना पर भी काम होता है ताकि अधिकांश लोग हिंदी भाषा को सीख सके।

दुनिया भर में लगभग 4.46% लोग हिंदी बोलते हैं। दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओँ में हिंदी अंग्रेजी और मंदारिन (चीनी) के बाद तीसरे स्थान पर है. लेकिन व्यापक रूप से बोली जाने के बावजूद, संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक तौर पर हिंदी को मान्यता नहीं देता है। लेकिन 2015 से, भारत सरकार उस मान्यता के लिए जोर दे रही है।

विश्व हिंदी दिवस का इतिहास

विश्व में हिन्दी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से साल 1975 में 10 जनवरी को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया था। इस अंतरराष्ट्रीय स्तर के सम्मलेन में 30 देशों के 122 प्रतिनिधि शामिल हुए थे। भारत समेत पोर्ट लुईस, स्पेन, लंदन, न्यूयॉर्क, जोहानसबर्ग जैसे देशों में विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया जा चुका है 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन की 31वीं वर्षगाँठ के अवसर पर पहली बार world hindi day वर्ष 2006 में मनाया गया था।

वर्ष 2006 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हर साल 10 जनवरी को world hindi day मनाने की घोषणा की थी। इसके बाद इसी साल 2006 में ही भारतीय विदेश मंत्रालय ने पहली बार world hindi day मनाया था। यूरोपीय देश नार्वे के भारतीय दूतावास ने पहली बार world hindi day मनाया था। वर्ष 2018 में मॉरीशस के पोर्ट लुइस में विश्व हिंदी सचिवालय (World Hindi Secretariat) भवन का उद्घाटन किया गया।

 

Scroll to Top