World Hindi Day 2024- क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस, जानें क्या है इतिहास

World Hindi Day 2024

World Hindi Day हम हिंदी भाषी लोगों के लिए बहुत ही खास दिन होता है। हर साल 10 जनवरी को दुनिया भर में विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस दिन दुनिया भर में कई जगहों पर हिंदी भाषा की विशेषताएं बताई जाती हैं। इसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को अन्तरराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है। यह भारत की राजभाषा है। विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं।

क्यों मनाया जाता है World Hindi Day

World Hindi Day 2024

विश्व हिंदी दिवस भारतीय भाषा के बारे में दुनिया में जागरूकता पैदा करने और इसे विश्व भर में वैश्विक भाषा के रूप में प्रचारित करने के उद्देश्य से मनाया जाता है। world hindi day उस दिन को चिह्नित करता है जब वर्ष 1949 में संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations’ General Assembly- UNGA) में पहली बार हिंदी बोली गई थी।

हिंदी के बारे में महात्मा गाँधी ने कहा था
हृदय की कोई भाषा नहीं है,
ह्रदय-ह्रदय से बातचीत करता है
और हिंदी ह्रदय की भाषा है।

विश्व हिंदी दिवस राष्ट्रीय हिंदी दिवस से अलग है। लोगों को अक्सर हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस को लेकर यह भ्रम रहता है कि दोनों एक ही हैं।  विश्व हिंदी दिवस हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है जबकि राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितम्बर को मनाया जाता है।

विश्व हिंदी दिवस का इतिहास

विश्व में हिन्दी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से साल 1975 में 10 जनवरी को  तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया था। इस अंतरराष्ट्रीय स्तर के सम्मलेन में 30 देशों के 122 प्रतिनिधि शामिल हुए थे। भारत समेत पोर्ट लुईस, स्पेन, लंदन, न्यूयॉर्क, जोहानसबर्ग जैसे देशों में विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया जा चुका है 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन की 31वीं वर्षगाँठ के अवसर पर पहली बार world hindi day वर्ष 2006 में मनाया गया था।

वर्ष 2006 में तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ।मनमोहन सिंह ने हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की थी। इसके बाद इसी साल 2006 में ही भारतीय विदेश मंत्रालय ने पहली बार world hindi day मनाया था। यूरोपीय देश नार्वे के भारतीय दूतावास ने पहली बार विश्व हिंदी दिवस मनाया था। वर्ष 2018 में मॉरीशस के पोर्ट लुइस में विश्व हिंदी सचिवालय (World Hindi Secretariat) भवन का उद्घाटन किया गया।

हिन्दी अपने वर्तमान स्वरूप में विभिन्न अवस्थाओं के माध्यम से उभरी है जिसके दौरान इसे अन्य नामों से जाना जाता था। पुरानी हिंदी का सबसे प्रारंभिक रूप अपभ्रंश (Apabhramsa) था। 400 ईस्वी में कालिदास ने अपभ्रंश में विक्रमोर्वशियम नामक एक रोमांटिक नाटक लिखा। आधुनिक देवनागरी लिपि 11वीं शताब्दी में अस्तित्त्व में आई।

World Hindi Day Theme 2024

हर साल की तरह वर्ष 2024 में भी विश्व hindi दिवस एक विशेष थीम की तहत मनाया जायेगा. इस वर्ष के लिए World Hindi Day Theme 2024 “हिंदी – पारंपरिक ज्ञान और कृत्रिम बुद्धिमत्ता को जोड़ना” रखी गई है

दुनिया में क्या hindi की स्थिति

भारत में यूं तो कई भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन हिंदी एक ऐसी भाषा है, जो देश में सबसे ज्यादा बोली जाती है। साल 2011 में हुई जनगणना के मुताबिक देश में करीब 43.63 फीसदी लोग हिंदी का इस्तेमाल करते हैं। उसी तरह दुनिया भर में अनेकों भाषाएँ बोलीं जाती हैं और हमारे लिए ये हर्ष की बात है कि दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा में हिंदी दुनिया की तीसरी भाषा है। दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा अंग्रेजी और मंदारिन चीनी भाषा है।

हिंदी इस समय विश्व में तेजी से उभरती हुई भाषा है। आंकड़ो पर गौर किया जाते तो दुनियाभर में 60 करोड़ से ज्यादा लोग हिंदी भाषा बोलते हैं। भारत के अलावा मॉरीशस, फिजी, सूरीनाम, गुयाना, त्रिनिदाद, टोबैगो और नेपाल जैसे देशों में हिंदी भाषा बोली जाती है। विश्व हिंदी दिवस का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है, क्योंकि यह भाषा विश्व स्तर पर स्थापित हो चुकी है

ये भी पढ़ें– World Introvert Day 2024- विश्व अंतर्मुखी दिवस अंतर्मुखी लोगों के लिए बेहद खास दिन

2 thoughts on “World Hindi Day 2024- क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस, जानें क्या है इतिहास”

  1. Pingback: World Hindi Day Theme 2024- विश्व हिंदी दिवस 2024 की थीम क्या है - Gyan Duniya

  2. Pingback: विश्व हिंदी दिवस 2024- इतिहास और महत्त्व - Gyan Duniya

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top